SHARE

पिंपल्स और पिंपल्स के दागों को ठीक करने के आधुनिक और प्राकृतिक उपचार

पिंपल्स और पिंपल्स के दागों को ठीक करने के आधुनिक और प्राकृतिक उपचार:- दुनिया में 80% लोगों को टीनएजर्स में थोड़ी बहुत या ज्यादा पिंपल्स हो ही जाती हैं। इस लेख में मैं बहुत आसान तरीके से पिंपल का मैनेजमेंट और ट्रीटमेंट आप कैसे कर सकते है उसकी जानकारी प्रोवाइड करूंगा।  इसके साथ ही पिंपल ठीक होने के बाद जो लाल या काले दाग चेहरे पर रह जाते हैं उनका ट्रीटमेंट भी बताऊंगा।

क्यों होते है पिंपल्स

पिंपल्स और पिंपल्स के दागों को ठीक करने के आधुनिक और प्राकृतिक उपचार
पिंपल्स और पिंपल्स के दागों को ठीक करने के आधुनिक और प्राकृतिक उपचार

15 से 30 साल की उम्र में हमारे शरीर में हारमोंस की मात्रा बढ़ने से हमारी स्किन में ज्यादा तेल बनने लगता है। यह तेल और डेड स्किन सेल्स इकट्ठा होकर हमारे चेहरे और शरीर के स्कीन पॉर्स  को बंद कर देते हैं। जो फूल कर ब्लैक है और वाइट के रूप में स्किन के ऊपर दिखने लगते हैं। जब बैक्टीरिया अंदर जाकर इनको इनफेक्ट कर देते हैं तब वहां पर पिंपल्स बन जाते हैं।

हार्मोनल असंतुलन और अन्य कारण

गर्भनिरोधक दवाइयों से पीसीओएस जैसी बीमारी से हमारे शरीर में हार्मोन इन बैलेंस होता है और किसी भी इसमें पिंपल्स बनने लगते हैं। खाने की चीजों में दूध और दूध से बने पदार्थ, मिठाईयां, मिल्क चॉकलेट, रिफाइंड आटे और तेल से बने केक पेस्ट्री पिज़्ज़ा  पिंपल्स को बढ़ावा देते हैं।
आजकल ज्यादा स्ट्रेस लेने से भी पिंपल्स होने के चांस रहते हैं।

स्किनकेयर से पिंपल्स ट्रीटमेंट

हम अपने स्कीन कि प्रॉपर केयर करके काफी हदतक पिंपल्स को ठीक कर सकते हैं। इसके लिए स्किन सेल्स की सफाई करना और स्किन को बैक्टीरियल इंफेक्शन और सूजन या इन्फ्लेमेशन से बचाकर हम पिंपल्स को दूर रख सकते हैं।

क्रीम और जेल ट्रीटमेंट

पिंपल्स के लिए हम दो तरह की क्रीम और जेल का यूज करते हैं। इसमें पहला है रेटिनोइड्स जैसे रेटिनो एसी और  बेंज़ोयल पेरोक्साइड क्रीम। यह सारी दवाइयां आपको काउंटर केमिस्ट की दुकान से मिल जाएंगे।  जेल या क्रीम स्किन में ऑयल प्रोडक्शन को कम करते हैं। इं क्रीमों में एंटीबायोटिक होते है जो स्किन में हुए इन्फेक्शन को ठीक करते हैं।

इसके अलावा  क्लिंडामाय या इरिथ्रोमाइसिन के जेल या क्रीम को रोज रात में लगाया जा सकता है। पिंपल्स के साथ अगर आपको फेस और बॉडी पर ब्लैकहेड्स और वाइट हेड्स है तो आपको डेली रात को वार्म वॉटर और एक जेंटल  सोप जैसे पीयर्स सोप से वाश करके बेंजोयल पराक्साइड 2.5 परसेंट जेल लगाना चाहिए। इस जेल को डेली रात को लगाते रहना चाहिए जब तक ब्लैकहेड्स और वाइटहेड्स बिल्कुल साफ ना हो जाए।

अगर जिन लोगों को पिंपल ब्लैकहेड्स और वाइटहेड्स  तीनों एक साथ ही होते हैं उन्हें ऐसे जेल या क्रीम लगाना चाहिए। जिसमें ऑयल कंट्रोल, स्कीन क्लीनिंग हो और उसके साथ में एंटीबायोटिक भी हो। इसके लिए Mankind फार्मा के  एक्ने स्टार जेल लगा सकते है। जिन लोगों को ऊपर बताए क्रीम सूट नहीं करते हैं।

सावधानियां

यहां एक बात बताना कि यह सारी दवाईयां जो मैंने आपको बताया है वह स्किन को सनलाइट से रिएक्ट करते हैं। इसलिए इन दवाइयों को रात में ही लगाना अच्छा है। सुबह उठकर जैंटल फेस वॉश से फेस वॉश करके ऑयल फ्री मॉइश्चराइजर लगाएं और घर से निकलने के पहले एक अच्छा सनस्क्रीन जरूर लगाएं। आपको यह तब तक करना चाहिए जब तक स्किन पूरी तरह साफ ना हो जाए।

डाक्टर से मिलें

यदि आपके पिंपल्स सिर्फ लगाने वाली दवाइयों से ठीक नहीं हो रहे हैं तो आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेना चाहिए और एंटीबायोटिक का ट्रीटमेंट शुरू करना चाहिए। उसके लिए डॉक्टर अक्सर टेटरासाइक्लिन या डॉक्सीसाइक्लिन देते हैं जिसका इलाज कम से कम 3 महीने तक बिना रुके करना चाहिए।

आइसोट्रेटिनोइन ट्रीटमेंट

यह सब करने के बाद भी यदि आपके पिंपल्स कंट्रोल में नहीं आ रहे हैं या बहुत बड़े-बड़े पिंपल्स हैं। जिन्हें हम सिस्टिक एक्ने बोलते हैं तो आपको डॉक्टर की सलाह से आइसोट्रेटिनोइन की गोली का ट्रीटमेंट शुरू करना चाहिए।

सावधानियां

आइसोट्रेटिनोइन पिंपल्स के लिए बहुत अच्छी दवाई है। लेकिन यह दवाई स्किन को बहुत ड्राई बनाती है और लीवर पर भी असर करती है। इसे प्रेग्नेंट और बेबी को दूध पिलाने वाली महिलाओं को बिल्कुल नहीं लेना चाहिए। इन कारणों से इस दवाई को डॉक्टर की सलाह से ही लेना चाहिए। कितने डोज कितने दिन तक लेना है? यह निर्णय आपके डॉक्टर ही करें तो अच्छा है।

पिंपल्स के दाग़ धब्बे

अब बात करते हैं पिंपल्स ठीक होने के बाद जो लाल और काले धब्बे रह जाते हैं उनको कैसे ठीक करें? इन धब्बों को स्कार नहीं कहते हैं, स्कार वह होते हैं जिन पर हाथ फेरने से स्किन अनइवन या उबड़ खाबड़ महसूस होती है। पिंपल ठीक होने के बाद ऊपर से जो लाल और काले धब्बे रह जाते हैं। इनपे हाथ लगाने से स्किन चिकनी फील होती है उची नीची नहीं लगती है। ऐसे स्पॉट्स के ट्रीटमेंट से पहले सन प्रोटेक्शन या धूप से बचाव जरूरी होता है।

सनस्क्रीन का इस्तेमाल

जब आपकी स्किन एक्ने से रिकवर ही हो रही है तब धूप पर नहीं घूमना चाहिए और निकलने के पहले एक सूटेबल सनस्क्रीन जरूर लगाना चाहिए। जिन लोगों को सनस्क्रीन सूट नहीं करता वह लोग वर्जिन कोकोनट ऑयल या शुद्ध नारियल का तेल भी अच्छी तरह स्किन पर लगाएंगे तो सूर्य से स्कीन का बचाव होगा।

विटामिन सी सीरम का इस्तेमाल

विटामिन सी बहुत अच्छा एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी इन्फ्लेमेटरी एजेंट है जो स्किन के काले पिगमेंट या रंग हटाने में भी हेल्प करता है। पिंपल्स ठीक होने के बाद यदि आप इसे डेली रात को पिंपल स्पॉट्स पर लगा कर सोएंगे तो स्किन जल्दी हिल होगी और दाग भी जल्दी ठीक हो जाएंगे।

कौनसा विटामिन सी सीरम लें

सिपला कंपनी का vc15 सीरम और bc5 सिरम अच्छे हैं। एक बात का ध्यान रखना है कि जब आप किसी भी विटामिन क सीरम की बोतल खोलते हो उसके बाद उसको फ्रिज में ही रखना है बाहर नहीं छोड़ना है। दूसरा विटामिन  सी को सिर्फ रात में लगाना चाहिए दिन के टाइम लगा कर घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए। सनलाइट लगने से इसका असर कम हो जाता है। विटामिन सी स्किन का कलर साफ करता है और साथ ही साथ रिंकल्स और फाइन लाइन को भी ठीक करता है।

पिल्स और डरमारोलर ट्रीटमेंट

पिंपल्स और पिंपल्स के दागों को ठीक करने के आधुनिक और प्राकृतिक उपचार
पिंपल्स और पिंपल्स के दागों को ठीक करने के आधुनिक और प्राकृतिक उपचार

इसके अलावा  डॉक्टर आपको केमिकल पील्स और डर्मा रोलर भी एडवाइस करते हैं। लेकिन यह ट्रीटमेंट आप अच्छे क्लीनिक या हॉस्पिटल में किसी पर टेक्नीशियन के डॉक्टर से कराएं तो अच्छा है।

पिंपल्स और पिंपल्स के दागों को ठीक करने के आधुनिक और प्राकृतिक उपचार
पिंपल्स और पिंपल्स के दागों को ठीक करने के आधुनिक और प्राकृतिक उपचार

स्पॉट्स के लिए नेचुरल ट्रीटमेंट

अब मैं आपको एक स्पॉट्स या दाग धब्बे  के लिए कुछ नेचुरल ट्रीटमेंट भी बता देता हूं। जो  सबसे किफायतीऔर फायदेमंद है। सबसे पहला है हनी या शहद और नींबू के का मास्क। यह ड्राई स्किन पिंपल स्पॉट्स के लिए बहुत अच्छा है। यह हफ्ते में चार बार करेंगे तो दो-तीन महीने में फेस एकदम सॉफ्ट और क्लियर हो जाएगा। जिन लोगों की ऑइली स्किन विद स्पॉट्स है वे लोग रात को फेस वॉश करके सिर्फ टमाटर का जूस या फ्रेश एलोवेरा या कच्चे आलू का रस लगा कर सोएंगे तो उन स्पॉट धीरे-धीरे मिट जाएंगे।

अंत में

फ्रेंड्स ऊपर मैंने जो भी दवाइयां और नेचुरल ट्रीटमेंट बताएं हैं उन्हें आप बराबर करोगे तो फायदा जरूर होगा। लेकिन प्रॉब्लम यह है कि ज्यादा से ज्यादा लोग थोड़े दिन ट्रीटमेंट करते हैं। फिर बंद कर देते हैं इस आर्टिकल में जो सालाह मैंने दी है वह आपको अपनी पिंपल्स को मैनेज करने में और ठीक करने में आपकी मदद जरूर करेगा। इस लेख पिंपल्स और पिंपल्स के दागों को ठीक करने के आधुनिक और प्राकृतिक उपचार  पढ़ने के लिए थैंक यू।

कोजीग्लो क्रीम के फायदे हिंदी में

Images Source:- PIXABAY

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here